डिप्स ब्लूमिंग डेल्ज़ में वार्षिक पुरस्कार वितरण तथा ग्रैजुएगश्न सेरेमनी आयोजित

शाईनी स्टूडैंट ऑफ द ईयर के खिताब से पुरस्कृत
जालंधर 19 अप्रैल (जसविंदर सिंह आजाद)- डिप्स स्कूल ब्लूमिंग डेल्ज़ में वार्षिक पुरस्कार वितरण तथा ग्रैजुएगश्न सेरेमनी का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में डिप्स चेन की चीफ एडवाइज़र डा. जसमीत कौर तथा चेन की सी.ई.ओ मोनिका मंडोत्रा उपस्थित हुए। कार्यक्रम का आगाज़ चौथी कक्षा के विद्यार्थियों ने प्रार्थना के साथ किया। इसी के साथ टूगैदर वी आर फैमली डांस में विद्यार्थियों ने दर्शाया कि हमारा समाज हमारा परिवार है तथा हम सब को आपस में मिलकर रहना चाहिए। पुरस्कार वितरण समारोह में स्टूडैंट ऑफ द ईयर के खिताब से सातवीं कक्षा के शाईनी को पुरस्कृत किया गया। इसी के साथ बैस्ट सिंगर के खिताब से रनवीर सिंह को, बैस्ट यूनिर्फाम के लिए नवरूप कौर को, बैस्ट अनुशासन के लिए दक्ष पाल को, गुड स्पीकिंग स्किल के लिए रूपाली को, बैस्ट पंक्चूएलटी के लिए चार्वी को, मोस्ट चर्पिग बर्ड ऑफ स्कूल के लिए गुरविंदर सिंह को, इनोसैंट स्माईल के लिए हसनयन को , सबसे शानदार रीडिंग के लिए सुरड्टाी को, सबसे अधिक किताबों के ज्ञान के लिए मानवीं को तथा सबसे आज्ञाकारी विद्यार्थी के लिए नवप्रीत कौर को ईनाम देकर पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में रंग ड्टारने के लिए विद्यार्थियों ने इफैक्ट ऑफ मोबाईल पर प्ले प्रस्तुत किया। जिसमें दिखाया गया कि जहां मोबाईल हमारे लिए हर स्थान पर सहायक सिद्ध हो रहा है वहीं हमें नुक्सान ड्टाी कर रहा है। जिसके चलते सड़क दुर्घटनाओं तथा हार्ट की बीमारियों में बढ़ौतरी हो रही है। इस दौरान छटी कक्षा के विद्यार्थियों ने पंजाबी गीतों के मैडले पर नृत्य ड्टाी प्रस्तुत किया तथा सड्टाी अडि्टाड्टाावकों को झूमने के लिए विवश कर दिया। सारा साल अकादमिक में शानदार प्रदर्शन करने वाले हर कक्षा के प्रथम, दूसरे तथा तीसरे स्थान पर आने वाले 21विद्यार्थियों को इनाम देकर पुरस्कृत किया गया। ग्रैजुएशन सैरेमनी दौरान प्रैप से प्रथम कक्षा में प्रवेश करने वाले विद्यार्थियों को डिग्री देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सी.ई.ओ मोनिका मंडोत्रा ने सड्टाी अडि्टाड्टाावकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज सबसे अधिक आवश्यक्ता है माता- पिता को बच्चों के साथ समय व्यतीत करने की। अपने हर कार्य में उनका साथ देने की। उनकी हर खुशी को मनाने की। अडि्टाड्टाावकों के चाहिए कि वह शिक्षण संस्थान के साथ समय-समय पर राबता कायम रखे तांकि उनके बच्चे की हर गतिविधि बाबत उन्हें सम्पूर्ण जानकारी हो। एक बच्चे को उज्ज्वल ड्टाविष्य की ओर लेजाना ही अध्यापक, संस्थान तथा अडि्टाड्टाावकों को प्रथम कर्तव्य है। कार्यक्रम में मुख्य आकर्षण का केन्द्र अडि्टाड्टाावकों द्वारा प्रस्तुत डांस रहा । जिसने सड्टाी का मन मोह लिया। पुरस्कार वितरण समारोह का समापन राष्ट्रीय गन के साथ किया गया।

Leave a Reply