सेंट सोल्जर छात्रों की “वरकियाँ के मुख ‘ते लिखतां दा कमल” किताब रिलीज़

टेक्नोलॉजी के युग में किताब लिख सभी को दी प्रेरणा : संगीता चोपड़ा
जालंधर 27 फरवरी (जसविंदर सिंह आजाद)- पंजाबी साहित्य, कवितायों, शायरी, पंजाब के इतहास के बारे में बताती किताब “वरकियाँ के मुख ‘ते लिखतां दा कमल” सेंट सोल्जर कॉलेज (को-एड) के छात्रों कमलप्रीत सिंह ‘दिलदरद’ और गुरमुख द्वारा लिख कर प्रकाशित की गई। ग्रुप की वाईस चेयरपर्सन श्रीमती संगीता चोपड़ा ने छात्रों बुक को रिलीज़ करते हुए छात्रों की सराहना करते हुए कहा कि आज के युग में जहाँ बच्चे मोबाइल, कंप्यूटर जैसी टेक्नोलॉजी में साहित्य को भूलते जा रहे हैं वहीं इन छात्रों ने किताब लिख युवाओं के लिए प्रेरणा का काम किया है। किताब के लेखक बी.ऐ पहले वर्ष के छात्र कमलप्रीत सिंह ‘दिलदरद’ और बी.कॉम फाइनल ईयर के छात्र गुरमुख सिंह ने बताया कि दोनों बचपन से ही दोस्त हैं और उन्होंने किताबें पढ़ना शुरू से ही पसंद था और आठवीं क्लास से लिखना शुरू किया। उन्होंने बताया कि उन्हें इस किताब को लिखने और प्रकाशित करने में 2 साल का समय लगा है। उन्होंने बताया कि वह सुरजीत पातर, शिव कुमार बटालवी को अपना आदर्श मानते हैं। उन्होंने सभी को युवाओं को सन्देश देते हुए कहा कि अपने जीवन में लक्ष्य बना उसे प्राप्त करने के लिए मेहनत करनी चाहिए। कॉलेज डायरेक्टर श्रीमती वीना दादा ने छात्रों को शुभ कामनाऐं देते हुए कहा कि छात्रों को आगे बढ़ने के लिए कॉलेज द्वारा आवश्यक सुविधाऐं प्रदान की जाएगी।

Leave a Reply