स्पैशल मेडिकल कैंप का आयोजन

जालंधर 16 दिसंबर (जसविंदर सिंह आजाद)- जिला व सैशन जज कम चेयरमैन जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी किशोर कुमार के मासिक जेल निरीक्षण दौरान कुछ कैदी महिलाओं द्वारा अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के बारे में जागरूक करवाया गया था। सैशन जज ने सिविल सजर्न कपूरथला डा. बलवंत सिंह, जालंधर के डा. सुभाष चावला व डा. सतपाल गुप्ता से विचार विर्मश के बाद मार्डन सैंट्रल जेल कपूरथला को जेल में बंद हवालाती व कैदी महिलाओं के लिए एक स्पैशल मेडिकल कैंप का आयोजन किया गया। इस दौरान जिला व सैशल जज के साथ उनकी धर्मपत्नी परमजीत कौर, अतिरिक्त जिला व सैशन जज सचिन शर्मा, चीफ ज्यूडीशियल मैजिस्ट्रेट कम सचिव जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी संजीव कुंदी व एडीशनल सिविल जज सी.डी. हरप्रीत कौर शामिल हुए। जिला व सैशन जज कम चेयरमैन जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी किशोर कुमार ने कहा कि समय-समय पर ऐसे मेडिकल चैकअप कैंपों का आयोजन स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से लगाए जाएगे। उन्होंने कहा कि जिन कैदी महिलाओं का मेडिकल चैकअप के दौरान कोई गंभीर बीमारी का पता चलता है तो उसका रैगूलर मेडिकल चैकअप करवाने के लिए केंद्रीय जेल सुपरीडैंट को दिशा निर्देश दिए गए है। मेडिकल कैंप में गायनीकलोजिस्ट डा. सुष्मा चावला, गायनी डा. कमल गुप्ता, गायनीकलोजिस्ट डा. सिम्मी धवन, साईकैटरिस्ट डा. गौरव भगत, आरथो डा. सतपाल गुप्ता, केंद्रीय जेल मेडिकल अधिकारी डा. अभिषेक गिल, गायनीकलोजिस्ट डा. दीपाली लुथरा, नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. संदीप धवन, केंद्रीय जेल मेडिकल अधिकारी डा. दर्शन के अलावा अन्य सहयोगी स्टाफ द्वारा अपना योगदान दिया गया। मेडिकल कैंप के दौरान डा.सुष्मा चावला ने कैदी महिलाओं को अपने शरीर की सफाई के साथ-साथ अपने हाथों को साफ सुथरा रखने का तरीका व अपने हाथों-पैरों के नाखुनों के कारण हमारे शरीर में पैदा होती बीमारियों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने शरीर को तंदरूस्त रखने के लिए प्रतिदिन कसरत करने के बारे में जागरूक किया। मेडिकल कैंप के दौरान 160 कैदी महिलाओं का मेडिकल चैकअप विशेषज्ञ डाक्टरों की टीमों द्वारा किया गया और मौके पर ही निशुल्क दवाईयां बांटी गई। सुपरीडैंट एसपी खन्ना, डिप्टी सुपरीडैंट कुलवंत सिंह सिद्धू व उनकी टीम द्वारा मेडिकल कैंप को सुचारू ढंग से चलाने के लिए जरूरतमंद प्रबंध किए गए। जिला व सैशन जज कम चेयरमैन जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी किशोर कुमार द्वारा सुपरडैंट एसपी खन्ना व उनकी पूरी टीम की सराहना की गई। कैंप के उपरांत सैशन जज द्वारा महीनावार निरीक्षण के तहत केंद्रीय जेल का दौरा किया गया। उन्होने कहा कि जेल में सजा भुगत रहे कैदियों को उनकी बनती कानूनी सेवाएं मुहैया करवाई जाएगी। उन्होंने हवालातियों से डियूडी में मुलाकात की और उनको जेल में पेश आ रही समस्याएं सुनी। उसके बाद जज द्वारा विभिन्न बैरकों का दौरा किया गया और बैरकों में रह रहे हवालातियों व कैदियों की मुश्किलों को सुना गया तथा लंबे समय से बंद हवालातियों से निजी तौर पर मुलाकात की और उनकी मुश्किलों को सुना। माननीय जज ने जेल प्रशासन व जिला कानूनी सेवाएं अथारिटी को निर्देश जारी किए कि हर जरूरतमंद हवालाती व कैदी को निशुल्क वकील की सेवाएं उपलब्ध करवाना यकीनी बनाया जाए। उन्होंने कहा कि सजा भुगत रहे कैदी निशुल्क कानूनी सहायता का लाभ लेकर उच्च अदालतों में अपील दायर कर सकते है। सैशन जज ने कहा कि जिला अदालतों में चल रहे कस्ट्डी के केसों का पहल के आधार पर निपटारा करने के आदेश जारी किए जा चुके है। उसके बाद जज द्वारा कैदियों व हवालातियों को दिए जाने वाले खाने की चैकिंग की गई और जेल प्रशासन को हिदायत की गई कि खाना पकाने वाली जगह की सफाई का खास ध्यान रखा जाए और खाना ढककर रखा जाए तथा साफ पीने वाला पानी मुहैया करवाया जाए। केंद्रीय जेल सुपरीडैंट एसपी खन्ना ने माननीय जज को जानकारी देते हुए बताया कि केंद्रीय जेल में फुल बॉडी स्कैनर उपलब्ध हो गया है। जज द्वारा केंद्रीय जेल सुपरीडैंट को निर्देश दिए गए और जेल में मोबाइल फोनों व सिम काडरे की रोकथाम के लिए पुख्ता प्रबंध किए जाए। उसके बाद जिला व सैशन जज ने जेल परिसर में सफाई का खास ध्यान रखने के दिशा निर्देश सुपरीडैंट, सैंट्रल जेल को जारी किए गए और कहा कि मक्खी-मच्छर से बचाव करने के लिए फागिंग करवाई जाए। हवालातियों व कैदियों को उनके परिवारिक सदस्यों से नियमानुसार मुलाकात भी करवाई गई और हवालातियों को समय पर अदालत में पेश करवाया जाए ताकि कोर्ट कार्यवाही में देरी न हो। उसके बाद जज ने जेल में चल रही बल्ब बनाने वाली फैक्टरी, गेहूं की पिसाई के लिए आटा पीसने वाली चक्कियां व वर्कशाप में चल रहे कार्यो का निरीक्षण किया। इस अवसर पर डा. कमल गुप्ता, प्रो. डा. मोनिका शर्मा, प्रो. डा. राधिका गुप्ता, सुरभि शर्मा, नितिका महाजन, आशिमा साहनी, शिरिया, कमलप्रीत कौर, पनवजीत कौर, कनिका शर्मा, साहिल, जसकिरण कौर, केंद्रीय जेल सुपरीडैंट सुरिंदरपाल खन्ना, डिप्टी सुपरीडैंट कुलवंत सिंह सिद्धू, वारंट अधिकारी सुशील कुमार, वारंट अधिकारी सतनाम सिंह, सैशन कोर्ट सुपरीडैंट पलविंदर सिंह, जजमैंट राईटर रमन कुमार, स्टैनो नरेश कुमार, जजमैंट राईटर ध्यान सिंह के अलावा जिला अथारिटी का स्टाफ, पैरा लीगल वलंटियर्स व जेल कर्मचारी शामिल थे।

Leave a Reply