“छात्रों से फीस ले सकते हैं कॉलेज” नोटिस सरकार करे सार्वजनिक रूप से जारी

कन्फडरेशन ऑफ़ पंजाब उनएडिड इंस्टीच्यूशन्स ने मीटिंग में लिया फैसला
जालंधर 7 फरवरी (जसविंदर सिंह आजाद)- अनुसूचित और जन जाती के छात्रों की बकाया स्कालरशिप और सरकार द्वारा कॉलेजों को एस.सी, बी.सी छात्रों से फीस वसूलने के लिए दिए गए निर्देशों को देखते हुए कन्फडरेशन ऑफ़ पंजाब उनएडिड इंस्टीच्यूशन्स द्वारा अध्यक्ष अनिल चोपड़ा की अध्यक्षता में मीटिंग की गई। जिसमें मेंबर्स विपिन शर्मा, तलविंदर राजू, संजीव चोपड़ा, राकेश बजाज, सुखजिंदर सिंह, मान सिंह आदि उपस्थित हुए। मेंबर्स ने कहा कि सरकार द्वारा कॉलेजों को आदेश दिए गए हैं कि जिसमें कॉलेज अनुसूचित और जन जाती से फीस वसूल कर सकते हैं और सरकार सीधा छात्रों के बैंक अकाउंट में फीस भेजेगी लेकिन जब छात्रों से कॉलेज द्वारा फीस मांगी जाती है तो छात्र धरने जा फिर प्रदर्शन पर कॉलेजों के बाहर बैठ जाते है जिसके कारण छात्रों की शिक्षा और कॉलेज के कार्यकाल पर असर होता है। सभी मेंबर्स ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि इस नोटिस को सार्वजनिक रूप से जारी किया जाए ताकि इसका असर छात्रों और कॉलेजों पर ना आ सके।
इसके अतिरिक्त सभी कॉलेज द्वारा संयुक्त रूप से कहा कि हमे ना चाहते हुए यह फैसला लेना पड़ रहा है कि अगर सरकार छात्रों की स्कालरशिप की बकाया राशि का सरकार भुगतान नहीं करती तो इस वर्ष छात्रों को रोल नंबर जारी नहीं किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी देखे रेख में जो उनएडिड कॉलेजों को शुरू किया था अब उनके बारे में और गरीब छात्रों के बारे में सोचते हुए जल्द से जल्द फण्ड रिलीज़ करे।

Leave a Reply